Lifestyle News

बच्चों को कैसे पहनाएं फैबरिक मास्क, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने जारी की गाइडलाइन

  • 17-Sep-2020
  • 374
 विश्व स्वास्थ्य संगठन ने हाल ही में बच्चों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए फैबरिक मास्क को पहनने का सही तरीका बताया है।  डब्ल्यूएचओ ने फैबरिक मास्क को पहनने की कुछ गाइडलाइंस तैयार की हैं। साथ ही डब्ल्यूएचओ ने बताया कि खुद को और दूसरों को कैसे प्रोटेक्ट किया जाए। पढ़ते हैं आगे...
 खुद को और दूसरों को बचाने के लिए याद रखें ये बातें
Lifestyle News बच्चों को कैसे पहनाएं फैबरिक मास्क, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने जारी की गाइडलाइन
1. दूसरों से लगभग एक मीटर की दूरी बनाए रखें।
 2. समय-समय पर अपने हाथ धोते रहें।
 3. अपने मास्क को और अपने चेहरे को बार-बार छूने से बचें।
 4. मास्क को पहने समय सही साइड का ध्यान रखें।
 5. अपने मास्क को छूने से पहले एक बार हाथ जरूर धोएं।
 6. मास्क के खराब होने या गंदे होने पर उसे फेंक दें।
 मास्क पहनते वक्त ध्यान रखें ये बातें
 1. सबसे पहले मास्क में उस हिस्से की पहचान करें जो चेहरे को और नाक को कवर करेगा।
 2. अब अपने मास्क को बड़ी सावधानी के साथ पहनें और ध्यान दें कि नाक के आसपास के हिस्से में जगह न छूटे।
 3. मास्क से अपने मुंह, नाक और चिन को कवर करें।
 4. एक बार मास्क पहनने के बाद उसके फ्रंट हिस्से को छूने से बचें।
 5. अपना मास्क उतारने से पहले भी हाथ धोएं।
 6. मास्क में लगी तनी की मदद से मास्क को उतारें।
 7. अपने मास्क को किसी साफ थैले या कंटेनर में रखें।
 8. मास्क उतारने के बाद अपने हाथ फिर से धोएं।
 9. अपने मास्क को दिन में कम से कम एक बार गर्म पानी से जरूर धोएं।
 10. किसी अन्य को अपना मास्क इस्तेमाल करने न दें।
मास्क के गलत प्रयोग करने से, असावधानी और वायरस की चपेट में आने की संभावना, मास्क न पहनने वाले लोगों से भी कहीं ज्यादा है, क्योंकि गलत तरीके से पहना गया मास्क आपको झूठी सुरक्षा का भ्रम देता है। इसीलिए विश्वा स्वास्थ्य संगठन ने बताया है कि लोग मास्क पहनने में कौन सी गलतियां कर रहे हैं।
 ढीला मास्क लगाना
आपका मास्क आपके चेहरे से चिपका हुआ होना चाहिए, ताकि ऊपर, नीचे या किसी भी दिशा से बाहरी पार्किल्स और वायरस आपकी नाक और मुंह में न प्रवेश कर जाएं। लेकिन बहुत सारे लोग ढीला-ढाला मास्क पहन लेते हैं।
 नाक के नीचे मास्क पहनना
बहुत सारे लोग मास्क तो लगा रहे हैं, लेकिन सुविधा की दृष्टि से अपनि नाक को मास्क के बाहर निकाल लेते हैं और मुंह को ढके रहते हैं। मुंह से ज्यादा तो वायरस के प्रवेश का खतरा और निकलने का खतरा नाक से ही है, क्योंकि आमतौर पर नाक से ही आप सांस खींचते हैं और छोड़ते हैं। इसलिए नाक और मुंह दोनों ढंके होने चाहिए।
 बात करने के लिए मास्क उतार लेते हैं
ये गलती बहुत सारे लोग करते हैं कि अकेले में तो पूरा मास्क पहनते हैं, लेकिन जब कोई सामने आ जाए तो उससे बात करने के लिए मास्क हटा कर बात करते हैं। कुल मिलाकर इस तरह मास्क के प्रयोग से बिल्कुल भी सुरक्षा नहीं मिल सकती है।
  ठुड्डी के नीचे मास्क पहनना
कुछ लोग मास्क को मुंह और नाक पर लगाने के बजाय कान से लटकाकर दाढ़ी के नीचे कर लेते हैं और बाद में इसे फिर पहनते-उतारते रहते हैं। ये भी गलत बात है।
 मास्क को बार-बार एडजस्ट करना और छूना
ये गलती तो 99 प्रतिशत लोगों को करते हुए देखा गया है। मास्क पहनने के बाद भी थोड़ी-थोड़ी देर में अपने मास्क को एडजस्ट करना या उतारना-पहनना ये गलत आदतें हैं। इससे आपको कोरोना वायरस से सुरक्षा नहीं मिल सकती है।
 मास्क की अदला-बदली
कुछ लोग एक-दूसरे से मास्क भी शेयर कर रहे हैं। खासकर घर के सदस्य आपस में कोई किसी का भी मास्क पहन कर बाहर निकल जाते हैं। ये आदत इसलिए गलत है क्योंकि कोरोना वायरस के 50त्न से ज्यादा मामलों में व्यक्ति को कोई लक्षण नहीं दिखते, वो स्वस्थ नजर आता है। ऐसे में मास्क आपस में बदलने से वायरस के फैलने का खतरा बहुत ज्यादा है।
 अगली बार जब भी आप मास्क पहनें तो ये गलतियां न करें क्योंकि मास्क आपको सुरक्षा के लिए पहनना है, न कि पुलिस से बचने या किसी को दिखाने के लिए। इसलिए मास्क को तरीके से पहनें। अगर आपका मास्क रियूजेबल (दोबारा इस्तेमाल) वाला है, तो हर प्रयोग के बाद मास्क को साबुन और पानी से अच्छी तरह धोकर सुखाएं। अगर मास्क सिंगल यूज है, तो इसे इस्तेमाल करने के बाद फेंक दें।