Lifestyle News

कोरोना के हल्के और बिना लक्षण वाले मरीजों के उपचार के लिए गाइडलाइन्स

  • 08-Oct-2020
  • 357
नई दिल्ली। ये बात सच है कि भारत में कोरोना वायरस का फैलना अभी रुका नहीं है, लेकिन इसकी गति में थोड़ी कमी जरूर आई है। इसके अलावा अब कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद गंभीर मरीजों की संख्या बहुत कम हो गई है। ज्यादातर मरीज या तो हल्के-फुल्के लक्षणों वाले  होते हैं या फिर बिना लक्षणों वाले। आयुष मंत्रालय ने ऐसे हल्के और बिना लक्षणों वाले मरीजों को ठीक करने के लिए आयुर्वेद और योग पर आधारित एक नैशनल क्लीनिकल मैनेजमेंट प्रोटोकॉल जारी किया है। 
Lifestyle News कोरोना के हल्के और बिना लक्षण वाले मरीजों के उपचार के लिए  गाइडलाइन्स

इसका अर्थ है कि आयुर्वेद और योग की मदद से कोरोना वायरस के हल्के या बिना लक्षण वाले लोगों का उपचार किया जाएगा।   केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने इस गाइडलाइन को जारी किया है। इस गाइड लाइन में खाने-पीने की चीजों के बारे में सलाह, योगासन, आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों का फार्मूला आदि बताएं गए हैं, जिनसे कोरोना वायरस के इंफेक्शन वाले हल्के या बिना लक्षण वाले मरीजों को ठीक किया जा सकता है।

इस गाइडलाइन में बताई गई महत्वपूर्ण बातें- 

-गुनगुने पानी में एक चुटकी हल्दी और नमक डालकर इससे गरारा करें। त्रिफला या मुलेठी (यष्टिमधु) को डालकर उबाले गए पानी से भी गरारा किया जा सकता है।
- दिन में 1-2 बार अपनी नाक में तिल या नारियल का तेल अथवा गाय का घी डालें, खासकर घर से बाहर जाते और लौटते समय।
- दिन में 1 बार अजवाइन या पुदीना या यूकेलिप्टस के तेल को उबलते पानी में डालकर नाक में इसका भाप लें।
-6 से 8 घंटे की नींद हर रोज लें।
-थोड़ी एक्सरसाइज और योग करें।

 खाने-पीने से जुड़ी गाइडलाइन्स

-पीने के लिए सादा पानी पीने के बजाय पानी में अदरक/धनिया के बीज/तुलसी/जीरा डालकर उबाल लें और इस पानी को पिएं।
-ताजा बना हुआ गर्म खाना ही खाएं और बैलेंस्ड डाइट को फॉलो करें।
-रात में हर रोज हल्दी वाला दूध (150 ग्राम गर्म दूध में आधा चम्मच हल्दी) पिएं। अपच की समस्या है, तो इसे न पिएं।
-दिन में 1 बार आयुष काढ़ा या आयुष क्वाथ का गर्म-गर्म सेवन करें।
-दिन में 1 बार 10 ग्राम च्यवनप्राश गर्म पानी के साथ खाएं।

-मरीज के सीधे संपर्क में आए लोगों के लिए गाइडलाइन

-अगर कोई व्यक्ति मरीज के सीधे संपर्क में आया है, तो उसे हाई रिस्क कैटेगरी में माना जाएगा। ऐसे मरीजों के लिए आयुष मंत्रालय ने आयुर्वेदिक औषधियां लेने की गाइडलाइन जारी की है।
-15 दिन तक अश्वगंधा का अर्क (500 मिलीग्राम) या अश्वगंधा पाउडर (1-3 ग्राम) दिन में 2 बार गर्म पानी के साथ लें। अथवा चिकित्सक की सलाह के अनुसार 1 महीने या इससे ज्यादा समय तक ले सकते हैं।
-15 दिन तक गिलोय घनवटी का अर्क (500 मिलीग्राम) या इसका पाउडर (1-3 ग्राम) दिन में 2 बार गर्म पानी के साथ लें। अथवा चिकित्सक की सलाह के अनुसार 1 महीने या इससे ज्यादा समय तक ले सकते हैं।
-दिन में 1 बार 10 ग्राम च्यवनप्राश गर्म पानी के साथ लें।

 

कोरोना वायरस के हल्के लक्षण वाले मरीजों के लिए गाइडलाइन्स

कोरोना वायरस के ऐसे हल्के लक्षणों वाले मरीज, जिन्हें सांस की तकलीफ नहीं है और सिर्फ बुखार, सिरदर्द, थकान, सूखी खांसी, गले में खराश, बंद नाक आदि की समस्या है, उनका उपचार आयुष मंत्रालय की गाइडलाइन्स द्वारा किया जा सकता है।
-15 दिन तक गिलोय+पिप्पली का पाउडर 375 मिलीग्राम दिन में 2 बार गर्म पानी के साथ लें। (अथवा चिकित्सक के परामर्श अनुसार करें)
-15 दिन तक आयुष 64 का सेवन 500 मिलीग्राम दिन में 2 बार गर्म पानी से करें। (अथवा चिकित्सक के परामर्श अनुसार करें)

 कोरोना संक्रमित मरीजों को ठीक करने के लिए योगासन से जुड़ी गाइडलाइन्स

ताड़ासन, पद-हस्तासन, अर्ध चक्रासन, त्रिकोणासन, अर्ध ऊष्ट्रासन, शशकासन, सिंहासन, उत्थान मंडूकासन, मर्जरीआसन, कपाल भांति आदि आसन, प्राणायाम और क्रियाओं की लिस्ट जारी की गई है, जिन्हें हर रोज 45 मिनट तक करना है।