दुष्कर्मी शिक्षक को पुलिस ने किया गिरफ्तार

  • 16-Nov-2022
  • 308
बलौदाबाजार- भाटापारा। दुष्कर्मी शिक्षक को बलौदाबाजार पुलिस ने अपराध दर्ज होने के दो घण्टे के अंतराल में ही गिरफ्तार कर लिया है। दुष्कर्मी शिक्षक ने युवती से पहले फेसबुक मैसेंजर के माध्यम से संपर्क किया। फिर खुद को सर्व आदिवासी समाज का उपाध्यक्ष बता युवती को पहले अच्छी जगह शादी करवाने का प्रलोभन दिया फिर खुद ही शादी का आश्वासन देकर व खुद को अविवाहित बता डेढ़ साल से उससे शारीरिक संबंध बनाता रहा पर शादी करने से मुकर गया। बाद में पता चला कि शिक्षक दो बच्चो का बाप है। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड में भेजा है।
दुष्कर्मी शिक्षक को पुलिस ने किया गिरफ्तार

मिली जानकारी के अनुसार भाटापारा ग्रामीण थाने में क्षेत्र में रहने वाली युवती ने शिकायत दर्ज करवाते हुए बताया कि आज से करीब डेढ़ वर्ष पूर्व दयाराम ध्रुव ने उसे फेसबुक मैसेंजर में मेसेज भेजा। रिप्लाई करने पर उसने अपना परिचय सर्व आदिवासी समाज के उपाध्यक्ष के रूप में दिया। दयाराम ध्रुव ने युवती को बताया कि वह आदिवासी समाज विवाह ग्रुप का एडमिन भी है, और उसकी अच्छी जगह शादी लगवा सकता है। यह कह कर युवती से उसका बायोडाटा मांग लिया और कहा कि इसे वह ग्रुप में शेयर कर देगा जिससे लड़के वाले उससे संपर्क करेंगे। इस तरह दोनो के बीच मोबाइल नम्बरो का आदान प्रदान हो गया और बातचीत होने लगी। युवती अच्छी जगह शादी लगने के प्रलोभन में आकर लगातार उससे बातचीत करती रही।

इसी दौरान दयाराम ध्रुव ने युवती के समक्ष प्रेम का इजहार करते हुए कहा कि “इतने दिन बात चीत करते हुए तुमसे प्रेम हो गया है और मैं तुम्हे पसंद करता हूं, मैं अविवाहित हूं और तुमसे शादी करना चाहता हूं। और शादी करूंगा बोल कर लगातार शारीरिक संबंध बनाता रहा। डेढ़ वर्षो तक झांसा देकर यौन शोषण करने के बाद शादी करने से मुकर गया। युवती ने जब पत्तासाजी की तब पता चला कि शिक्षक पहले से ही शादीशुदा है और दो बच्चो का बाप है। उसने पुलिस के समक्ष शिकायत दर्ज करवाई। घटना की शिकायत मिलने पर भाटापारा थाने में अपराध क्रमांक 673/2022 धारा 376 का अपराध दर्ज किया गया।

जिले के एसएसपी दीपक झा को मामले का संज्ञान था, उन्होंने तत्काल एफआईआर कर आरोपी की त्वरित गिरफ्तारी करवाने के निर्देश एसडीओपी सिद्धार्थ बघेल को दिए हुए थे। जिसके चलते एफआईआर दर्ज होने के दो घण्टे बाद ही भाटापारा ग्रामीण से बनाई गई टीम के एएसआई संजीव राजपूत, आरक्षक गौरीशंकर, राकेश कश्यप, उमेश चंद्रवंशी ने आरोपी शिक्षक को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी शिक्षक दयाराम ध्रुव 39 वर्ष निवासी विष्णु पेट्रोल पंप के सामने पलारी थाना पलारी ने खुद को अविवाहित बता युवती का डेढ़ वर्ष तक दैहिक शोषण किया था। वह पलारी ब्लॉक के शासकीय प्राथमिक शाला धमनी में सहायक शिक्षक के पद पर पदस्थ है। उसे गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड में अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।